About A.S.P.G. College

मेरठ-हस्तिनापुर मार्ग पर स्थित इस महाविद्यालय की स्थापना सोसायटी रजिस्ट्रेशन एक्ट 1860 के अन्तर्गत पंजीकृत संस्था ए०एस० डिग्री कॉलिज एसोसिएशन, मवाना ;मेरठद्ध द्वारा 24 जून 1961 को ए०एस० डिग्री कॉलिज, मवाना के नाम से हुई थी। महाविद्यालय में प्रतिवर्ष 24 जून को स्थापना दिवस के अवसर पर यज्ञ व कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है। महाविद्यालय के संस्थापक मंत्री पूज्य श्री विशम्भर सहाय अग्रवाल जी के अथक प्रयासों से विज्ञान संकाय में सम्ब(ता प्राप्त कर बी०एससी० गणित में मात्र 40 विद्यार्थियों की संख्या से प्रारम्भ हुआ यह महाविद्यालय निरन्तर प्रगति पर अग्रसर होता हुआ आज विभिन्न संकायों में सनातक व स्नातकोत्तर पर लगभग 1000 विद्यर्थियों को उच्च शिक्षा प्रदान कर रहा है। आज यह महाविद्यालय मवाना क्षेत्र का विशालतम व भव्य भवन वाला प्रमुख उच्च शिक्षा केन्द्र है। वर्ष 1973 में बी०एससी० ;जीव विज्ञानद्ध व वर्ष 1983 में वाणिज्य संकाय में बी०कॉम० में सम्ब(ता प्राप्त करने के बाद इस नन्हें से पौधे ने विशाल आकार ग्रहण करना आरम्भ कर दिया तथा वर्ष 1995 में कॉलिज को स्ववित्त पोषित योजनान्तर्गत एम०एससी० ;प्राणी विज्ञानद्ध व एम०ए० ;अंग्रेजीद्ध मे सम्ब(ता प्राप्त करने के बाद स्नातकोत्तर स्वरूप प्राप्त हुआ तथा प्रबन्धतन्त्र के दृढ़ संकल्प एवं क्षेत्र की जनता के सहयोग से वर्ष 2002 से एम०एससी० ;रसायन शास्त्रद्ध तथा वर्ष 2004 से एम०एससी० ;वनस्पति विज्ञानद्ध में कक्षाऐं चल रही है। महाविद्यालय में प्राणी विज्ञान व वाणिज्य विभाग में शोध केन्द्र भी है तथा रसायन विभाग एवं गणित विभाग में शीघ्र ही शोध केन्द्र खोले जाने के प्रयास प्रारम्भ हो चुके है। भविष्य में महाविद्यालय में अन्य पाठ्यक्रमों की सम्ब(ता हेतु प्रबन्ध समिति के अथक प्रयासों से 06 कक्षों ;03 भू-तलपर एवं 03 प्रथमतल परद्ध के भवन का निर्माण कराया गया। सत्र 2018-19 में अन्य पाठ्यक्रमों की सम्ब(ता हेतु विश्वविद्यालय में आवेदन किया जाना प्रस्तावित है। महाविद्यालय में आधुनिक तकनीकी का उपयोग कर एक भव्य एवं वातानुकूलित सेमिनार हॉल का निर्माण किया गया है, जिसमें 100 विद्यार्थियों के बैठने की क्षमता है। महाविद्यालय का ध्येय राष्ट्रीय शक्ति स्तम्भ के रूप में ऐसी युवा पीढ़ी का निर्माण करना है जो शरीरिक, मानसिक प्राणिक, बौ(क एवं अध्यात्मिक दृष्टि से पूर्ण विकसित हो तथा शिक्षण, प्रशिक्षण तथा अनुसंधान में सर्वेच्च शिखरों की प्राप्ति के साथ-साथ चरित्र, नैतिकता एवं राष्ट्रीय भावना से ओतप्रोत हो। कॉलिज में अध्ययन हेतु उपर्युक्त एवं मनोहारी वातावरण पैदा करने के ध्येय से प्रबन्ध तन्त्र द्वारा निर्मित आकर्षक एवं भव्य प्राकृतिक सौन्दर्य से परिपूर्ण पेड़ो से आच्छादित कैम्पस व जल प्रपात, चक्राकार सड़क व रेलिंग आदि आकर्षण के साथ-साथ गरिमा प्रदान करते है। आधुनिक सुविधाओं से परिपूर्ण प्रयोगशालाऐं 19000 राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की पुस्तकें विशाल कम्प्यूटरीकृत पुस्तकालय तथा महाविद्यालय में आधुनिक सुविधाओं से युक्त लगभग 700 वर्ग फुट में कम्प्यूटर लैब, जिसमें अत्याधुनिक 10 कम्प्यूटर स्थापित है। इतना ही नही विगत वर्षों में महाविद्यालय में छात्र-छात्राओं को शासनादेश के अनुरूप वाई-फाई सुविधा उपलब्ध कराई गयी। ग्रामीण क्षेत्र का यह ्रपथम सहायता प्राप्त महाविद्यालय है जिसका सम्पूर्ण परिसर वाई-फाई सुविधा युक्त है। सत्र 2014-15 से छात्र-छात्रायें कम्प्यूटर/इन्टरनेट के माध्यम से देश विदेश की नई तकनीकों के विषय में निरन्तर जानकारी ले रहे है। एन०एस०एस० खेलकूद व सांस्कृतिक कार्यक्रमों का क्रियान्वयन आदि उच्च शिक्षा में प्राप्त करने में सहयोगी विद्यार्थियों के बहुआयाम विकास व अध्ययन के प्रति रूचि उत्पन्न करने में सहयाक है। सत्र 2018-19 में महाविद्यालय में छण्ब्ण्ब्ण् का पुनः संचालन प्रस्तावित है। इस वर्ष महाविद्यालय में एक सेमिनार हॉल एवं छः नवीन कक्षों का निर्माण भी कराया गया है।